June 22, 2021

Get Aarti Mantra

Aarti & Mantra Sangrah of Hindu Gods and Goddesses

Santoshi Mata Ki Aarti Hindi Lyrics सन्तोषी माता आरती

संतोषी माता ( Santoshi Mata Ki Aarti ) एक और माँ का नाम है जो सुख, धन और शांति देती है। हमारे जीवन में संतोष का बहुत महत्व है। संतुष्टि न होने पर व्यक्ति मानसिक और शारीरिक रूप से बहुत कमजोर हो जाता है। संतोषी मां हमें संतोष देती हैं और हमारे जीवन में खुशियां बहती हैं।

साग्रह व् चरण 1

जय सन्तोषी माता, मैया सन्तोषी माता
अपने सेवक जन की, सुख सम्पत्ति दाता
जय सन्तोषी माता
जय सन्तोषी माता, मैया सन्तोषी माता
अपने सेवक जन की, सुख सम्पत्ति दाता
जय सन्तोषी माता

Jai Santoshi Mata, Maiya Santoshi Mata
Apne Sevak Jan Ki , Sukh Sampatti
Jai Santoshi Mata
Jai Santoshi Mata, Maiya Santoshi Mata
Apne Sevak Jan Ki , Sukh Sampatti Data
Jai Santoshi Mata

साग्रह व् चरण 2 & 3

सुन्दर चीर सुनहरी माँ धारण कीन्हों
हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार कीन्हों
जय सन्तोषी माता

Sundar Cheer Sunhari Maa Dharan Kanho
Hira Panna Damke, Tan Shrungar Kinho
Jai Santoshi Mata

गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे
मन्द हंसत करुणामयी, त्रिभुवन मन मोहे
जय सन्तोषी माता

Geru Laal Chata Chavi , Badan Kamal Sohe
Manda Hansat Karunamayi, Tribhuvan Man Mohe
Jai Santoshi Mata

साग्रह व् चरण 4 TO 6

स्वर्ण सिंहासन बैठी, चंवर ढुरें प्यारे
धूप दीप मधुमेवा, भोग धरें न्यारे
जय सन्तोषी माता

Swarn Sinhasan Baithi, Chanvar Dhure Pyare
Dhoop Deep Madhumeva, Bhoga Dhare Nyay
Jai Santoshi Mata

गुड़ और चना परमप्रिय, तामे संतोष किये
सन्तोषी कहलाई, भक्तन वैभव दिये
जय सन्तोषी माता

Gud Aur Chana Parampriy, Taame Santosh Kiye
Santoshi Kahlai Bhaktan Vaibhav Diye
Jai Santoshi Mata

मन्दिर जगमग ज्योति, मंगल ध्वनि छाई
विनय करें हम सेवक, चरनन सिर नाई
जय सन्तोषी माता

Mandir Jagmag Jyoti , Mangal Dhavni Chai
Vinay Kare Hum Sevak , Charnan Sir Naai
Jai Santoshi Mata

साग्रह व् चरण 7 TO 10

शुक्रवार प्रिय मानत, आज दिवस सोही
भक्त मण्डली छाई, कथा सुनत मोही
जय सन्तोषी माता

Shukravar Priy Manat, Aaj Divas Sohi
Bhakt Mandali Chai,katha Sunat Mohi
Jai Santoshi Mata

भक्ति भावमय पूजा, अंगीकृत कीजै
जो मन बसै हमारे, इच्छा फल दीजै
जय सन्तोषी माता

Bhakti Bhavmay Pooja , Angikrut Kije
Jo Man Base Humare , Echa Fhal Dije
Jai Santoshi Mata

दुखी दरिद्री, रोगी, संकट मुक्त किये
बहु धन-धान्य भरे घर, सुख सौभाग्य दिये
जय सन्तोषी माता

Dukh Daridri , Rogi , Sankat Mukt Kiye
Bahu Dhan Dhanya Bhare Dhar, Sukh Saubhagya
Jai Santoshi Mata

ध्यान धरे जन तेरा, मनवांछित फल पायो
पूजा कथा श्रवण कर, घर आनन्द आयो
जय सन्तोषी माता

Dhyan Dhare Jan Tera , Manvanchit Phal Paayo
Pooja Pratha Shrvan Kar, Ghar Aanand Aayo
Jai Santoshi Mata

साग्रह व् चरण 10 TO 15

शरण गहे की लज्जा, राखियो जगदम्बे
संकट तू ही निवारे, दयामयी अम्बे
जय सन्तोषी माता

Sharan Gahe Ki Lajja , Rakhiyo Jagdambe
Sankat Tuhi Nivare, Dayamayi Ambe
Jai Santoshi Mata

शुक्रवार प्रिय मानती, आज दिवस सोही
भक्त मण्डली छाई, कथा सुनत मोही
जय सन्तोषी माता

Shukravaar Priy Manti ,a Aaj Divas Sohi
Bhakt Mandali Chaai, Katha Sunat Mohi
Jai Santoshi Mata

सन्तोषी माता की आरती, जो कोई जन गावे
ऋद्धि-सिद्धि, सुख-सम्पत्ति, जी भर के पावे
जय सन्तोषी माता

Santoshi Mata Ki Aarti , Jo Koi Jan Gaave
Ridhi Sidhi Sukh Sampatti, Ji Bhar Ke Paave
Jai Santoshi Mata

जय सन्तोषी माता, मैया सन्तोषी माता
अपने सेवक जन की, सुख सम्पत्ति दाता
जय सन्तोषी माता

Jai Santoshi Mata, Maiya Santoshi Mata
Apne Sevak Jan Ki , Sukh Sampatti Data
Jai Santoshi Mata

जय सन्तोषी माता, मैया सन्तोषी माता
अपने सेवक जन की, सुख सम्पत्ति दाता
जय सन्तोषी माता

Jai Santoshi Mata, Maiya Santoshi Mata
Apne Sevak Jan Ki , Sukh Sampatti Data
Jai Santoshi Mata

Santoshi Mata Ki Aarti – सन्तोषी माता

साई बाबा चालीसा – Sai Baba Chalisa Hindi English