June 22, 2021

Get Aarti Mantra

Aarti & Mantra Sangrah of Hindu Gods and Goddesses

Lord Shiva Aarti – ॐ जय शिव ओंकारा Om Jai Shiv Omkara

सोमवार को भगवान शिव की Lord Shiva Aarti विशेष पूजा की जाती है। सावन का महीना भगवान शिव का पसंदीदा माना जाता है जिसके कारण इस महीने में आने वाले सोमवार का महत्व और भी बढ़ जाता है। क्योंकि सोमवार भगवान भोलेनाथ को समर्पित है। राशी मंत्रों का पाठ कहीं भी और कभी भी किया जा सकता है। … किसी भी नए काम को शुरू करने से पहले, परीक्षा या साक्षात्कार से पहले, बीमार होने पर या यात्रा करते समय उनका जाप किया जा सकता है। ये राशी मंत्र वास्तव में मंत्र बीज मंत्र हैं जो किसी भी भय, बीमारी, अवरोध, भ्रम आदि को मिटाने की जन्मजात शक्ति रखते हैं।

Lord Shiva Aarti – भगवान शिव की आरती

ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा।
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

‘om Jaya Siva Onkara, Svami Jaya Siva Onkara.
Brahma, Visnu, Sadasiva, Ard’dhangi Dhara. ‘om Jaya Siva Onkara.

एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे।
हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Ekanana Caturanana Pancanana Raje.
Hansasana Garurasana Vrsavahana Saje. ‘om Jaya Siva Onkara.

दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे।
त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Do Bhuja Cara Caturbhuja Dasabhuja Ati Sohe.
Triguna Rupa Nirakhate Tribhuvana Jana Mohe. om Jaya Siva Onkara.

अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी।
त्रिपुरारी कंसारी कर माला धारी॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Aksamala Vanamala Mundamala Dhari.
Tripurari Kansari Kara Mala Dhari. ‘om Jaya Siva Onkara.

श्वेताम्बर पीताम्बर बाघम्बर अंगे।
सनकादिक गरुणादिक भूतादिक संगे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Svetambara Pitambara Baghambara Ange.
Sanakadika Garunadika Bhutadika Sange. ‘om Jaya Siva Onkara.

कर के मध्य कमण्डलु चक्र त्रिशूलधारी।
सुखकारी दुखहारी जगपालन कारी॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Kara Ke Madhya Kamandalu Cakra Trisuladhari.
Sukhakari Dukhahari Jagapalana Kari. ‘om Jaya Siva Onkara.

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका।
मधु-कैटभ दो‌उ मारे, सुर भयहीन करे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Brahma Visnu Sadasiva Janata Aviveka.
Madhu-kaitabha Dou Mare, Sura Bhayahina Kare. ‘om Jaya Siva Onkara.

ब्रहमाणी रुद्राणी तुम कमला रानी।
प्रणवाक्षर में शोभित ये तीनों एका॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Brahamani Rudrani Tuma Kamala Rani.
Pranavaksara Mem Sobhita Ye Tinom Eka. ‘om Jaya Siva Onkara.

लक्ष्मी व सावित्री पार्वती संगा।
पार्वती अर्द्धांगी, शिवलहरी गंगा॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Laksmi Va Savitri Parvati Sanga.
Parvati Ard’dhangi, Sivalahari Ganga. ‘om Jaya Siva Onkara.

पर्वत सोहैं पार्वती, शंकर कैलासा।
भांग धतूर का भोजन, भस्मी में वासा॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Parvata Sohaim Parvati, Sankara Kailasa.
Bhanga Dhatura Ka Bhojana, Bhasmi Mem Vasa. ‘om Jaya Siva Onkara.

जटा में गंग बहत है, गल मुण्डन माला।
शेष नाग लिपटावत, ओढ़त मृगछाला॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Jata Mem Ganga Bahata Hai, Gala Mundana Mala.
Sesa Naga Lipatavata, Orhata Mrgachala. ‘om Jaya Siva Onkara.

काशी में विराजे विश्वनाथ, नन्दी ब्रह्मचारी।
नित उठ दर्शन पावत, महिमा अति भारी॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Kasi Mem Viraje Visvanatha, Nandi Brahmacari.
Nita Utha Darsana Pavata, Mahima Ati Bhari. ‘om Jaya Siva Onkara.

त्रिगुणस्वामी जी की आरति जो कोइ नर गावे।
कहत शिवानन्द स्वामी, मनवान्छित फल पावे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥

Trigunasvami Ji Ki Arati Jo Ko’i Nara Gave.
Kahata Sivananda Svami, Manavanchita Phala Pave. ‘om Jaya Siva Onkara.

Lord Shiva Aartiभगवान शिव की आरती

Shri Ram Aarti श्री राम जी की आरती Lyrics in Hindi English